Kedarnath ghost stories in hindi 2020

ghost stories in hindi 2020:- आज की कहानी केदार नाथ के ऊपर है केदार नाथ भारत का जाना माना एक तीर्थ स्थल है जहा लाखो लोग हर साल यहाँ के मंदिर के दर्शन के लिए पहाड़ चढ़ कर आते है

यहाँ के बारे में कहा जाता है की यह जो भी कोई आता है उसकी सभी परेशानिया हल हो जाती है और उसकी जो भी इक्छा है वो पूरी हो जाती है मगर 2013 में यहाँ कुछ ऐसा हुआ जिसकी वजह से पूरा भारत हिल गया

यहाँ एक ऐसी भयानक तूफान आया जिसने सब कुछ तहस नहस कर दिया यहाँ के घर टूट गए और कई हजारो लोगो की जाने चली गई और कोई सारे लोग घूम हो गए लेकिन धीरे धीरे यहाँ की मरम्त हुई

और लोग फिर से एक बार यहाँ मंदिर के दर्शन के लिए आने लगे लेकिन ये आज भी टूटे घरो और बंजर जमीन से बहरी हुई है ऐसा माना जाता है की जिन लोगो की उस घटना में मोत हुई उनको कभी मुक्ति नहीं मिली और

आज भी उनकी आत्मा आज भी यहाँ घूमती रहती है इसी लिए कोई लोग केदार नाथ को आत्माओ की नगरी भी कहते है 2014 में जब इस जगह को ठीक किया जा रहा था तब यहाँ काम करने वाले मजदूरों के साथ कुछ ऐसा अजीब होने लगा

जिससे वो काफी ज्यादा डर गए जब मजदूरों से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया की उनको कोई बार कुछ अजीब लगा जैसे की उनके सामान का अचानक कही इधर उधर हो जाना सास ना आना और कोई बार किसी के मदत की आवाज सुनाई देना या छोटे बच्चो की रोने की आवाज सुनाई देना एक मजदुर ने ये भी बताया

की उसका एक दोस्त रात के झाने अँधेरे में पहाड़ी गली से गुजर रहा था और तभी उससे लगा की करीब दो तीन लोग उसका पीछा कर रहे है और वो तेजी से आगे बढ़ने लगा और फिर उससे पीछे से बचाओ बचाओ की आवाज आने लगी

तो वो पीछे मुड़ा लेकिन वहाँ कोई भी नहीं खड़ा था लेकिन जैसे ही वो अपने रस्ते पर जाने लगा की उसके पुरे रस्ते पर मारे हुए लोगो की हड़िया बिछी हुई थी ये सब देख के उसने अपनी आँखे बंद कर ली लेकिन अचानक उसका दम घुटने लगा

और वो अपने घुटने के बल निचे बैठ गया उससे धीरे धीरे साँस नहीं आ रही थी और उससे ऐसा लग रहा था की जैसे वो पानी में डूब रहा है जब हिमत करके उसने अपनी आँखे खोली तो वो गहरे पानी में था

और उसके आस पास हजारो लोग उसी पानी में डूब रहे थे उसके कानो में बचाओ बचाओ की चिल्लाने की आवाजे आने लगी और उससे ऐसा लगने लगा की वो पानी में डूबने वाले लोग उससे भी अपने साथ पानी में डूबा रहे है

और वो बिहोश हो गया सुबह जब उसकी आँखे खुली तो उसके आस पास कोई भी नहीं था वो अमजदूर उसी दिन अपने गाँव के लिए निकल गया और दुबारा कभी केदार नाथ नहीं आया

इसी वजह से कोई मजदूरों ने भी अपनी नौकरी छोड़ दी और दुबारा कभी केदार नाथ मुड़कर नहीं देखा एक तरफ ये कोई लोगो के लिए केदार नाथ भगवान की जगह भी और दूसरी तरफ कोई लोगो के लिए ये भूतो की नागरि आप क्या सोचते है हमें कमेंट में लिखना बिलकुल ना भूले

ghost stories in hindi 2020

ghost stories in hindi 2020 in english

ghost stories in hindi 2020:- Today’s story is above Kedar Nath, Kedar Nath is a famous pilgrimage site of India, where millions of people come up every year to visit the temple here,

it is said about whoever comes here. All the problems are solved and whatever he wishes is fulfilled, but something happened here in 2013, due to which the whole of India was shaken,

there was a terrible storm which destroyed everything here. They broke and many thousands of people went to sleep and many people turned around but slowly got repaired here and people started coming here once again to visit the temple, but they are still broken by broken houses and barren land.

It is believed that the people who were killed in that incident were never liberated and even today their souls roam here even today, that is why some people call Kedar Nath also the city of souls in 2014 when Gah was being repaired when something strange happened to the laborers working here,

which scared them a lot when the laborers were asked about it, they said that they felt strange at some time as if their goods were suddenly Somewhere there, there is no mother-in-law,

and sometimes the voice of someone’s help or the cry of small children is heard. One of the friends also told that a friend of his is blind in the night Ray was passing through the mountain lane and then he felt that about two or three people were following him and he started moving fast and then from behind he started to save the sound of Bachao,

he turned back but no one stood there But as soon as he started going on his way to see that the whole of the people were lying on the road, he saw his eyes closed, but he closed his eyes,

but suddenly he suffocated and he was on his knee. He sat down and was not breathing slowly and it seemed as if he was drowning in water when he opened his eyes after a snowstorm, he was in deep water and thousands of people around him were drowning in the same water.

Save his ears, the sound of shouting of Bachao Bachao started coming and it seemed that those who drowned in the water are drowning in the water with him and he got angry in the morning when his eyes opened.

There was no one nearby, that Amjadur left for his village on the same day and never came to Kedar Nath again due to which no workers left their jobs and never looked at Kedar Nath again and saw Kedar Nath for one side.

In the place of God and on the other side, for some people, what do you think of these ghosts, do not forget to write us in the comments

, , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *