Khooni Holi | होली की कहानी | scary doll stories to tell in the dark |

scary doll stories to tell in the dark

scary doll stories to tell in the dark:- भारत में होली के खुसियो का त्युहार है जहा सभी लोग अपने दोस्तों और रिस्तेदारो के साथ रंग लगा कर होली मनाते है लेकिन भारत में भी एक ऐसी जगह है जहा लोहो ने पिछले कोई सालो से कोई होली नहीं मनाई है ये कहानी झारखण्ड में बासे दुर्गा पुर गाँव की है और इसके बारे में कहा जाता है की यहाँ एक दुगा प्रसाद नाम का एक राजा रहा करता था जिसका यहाँ राज चलता था उस राजा को होली मानना बहुत पसंद था और एक होली के दिन ही उनके बेटे की मोत हो गई और तभी से वो राजा पागल हो गया और उसने पुरे गाँव में कोई भी होली का त्युहार नहीं मनाएगा ऐसा आदेश दे दिया और कुछ ही सालो के बाद उस राजा ने होली के दिन ही अपनी जान ले ली और जिससे उस गाँव की हालत और बिगड़ गई और उसी साल वहाँ कोई बारिश नहीं हुई जिससे वहाँ फसल नहीं हुई और वहाँ के कोई लोग भुखमरी के कारन मर गए तब से उस होली के दिन को उस गाँव के लिए बुरा माना जाता है और कभी भी उस गाँव में होली का त्युहार नहीं मनाते और तो और कहा जाता है की आज भी उस गाँव में उस राजा का भुत घूमता है जो होली के दिन लोगो को बहुत तंग करता है उस गाँव के लोग इस कारण से होली नहीं मनाते क्युकी उस गाँव के राजा की आत्मा उनको मार देगी कोई साल पहले जब एक आदमी जो गाँव में नया नया आया था उसने गाँव के लोगो की बात नहीं मानी और होली मानाने निकल पड़ा जिसके बाद वो उस गाँव में फिर कभी नहीं दिखाई दिया कहा जाता है की उस गाँव के राजा के भुत ने उसका मार दिया उसके बाद से गाँव में होली ना मनाये जाने की एक परम्परा सी बन गई है जो आज भी चल रही है और आज भी होली आते ही उस गाँव में सं शांत हो जाता है जैसे वहाँ कोई मर गया हो दस्तो आपको हमारी ये कहानी कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताये थैंक यू हमारी स्टोरी को पढ़ने के लिए फिर मिलेंगे एक और नई स्टोरी के साथ

scary doll stories to tell in the dark

scary doll stories to tell in the dark:- In India, the festival of Holi is celebrated where everyone celebrates Holi with their friends and relatives, but there is a place in India too where Lho has not celebrated any Holi for the past few years. It belongs to the village and it is said that there used to be a king named Durga Prasad, who used to rule here, that king loved to consider Holi and one of Holi His son was born and since then the king went mad and he ordered that no one would celebrate Holi festival in the whole village and after a few years that king killed himself on the day of Holi and Due to which the condition of that village worsened and in the same year there was no rain that did not crop there and some of the people died there due to starvation, since then that Holi day is considered bad for that village and ever more It does not celebrate Holi festival in the village, and it is said that even today, in that village, there is a roam of that king who harasses people very much on the day of Holi, because the people of that village do not celebrate Holi because of that village The king’s soul would kill him some years ago, when a man who came to the village, he did not listen to the people of the village and went out to celebrate Holi, after which he never appeared again in that village. It is said that the king’s son was killed by the king of that village. Since then there has been a tradition of not celebrating Holi in the village, which is still going on and even today, as soon as Holi comes, the village becomes quiet like that. If someone has died there, how did you like our story, please tell us by commenting, you will meet again to read our story with another new story

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*